254+ Intajaar Shayari In Hindi| इंतज़ार शायरी हिंदी

Intajaar Shayari In Hindi-दिल को छू लेने वाली वेटिंग शायरी खोजें जो लालसा, प्रत्याशा और आशा की भावनाओं को खूबसूरती से दर्शाती है। इंतज़ार की ये काव्यात्मक अभिव्यक्तियाँ आपको अपने मरीज़ को जीवित रखने के लिए प्रेरित करेंगी और आपके दिल को सांत्वना देंगी। वेटिंग शायरी के विशाल संग्रह को ब्राउज़ करें और उन शब्दों को खोजें जो आपकी अंतरतम भावनाओं से मेल खाते हों !!

हर कोई बेपनाह मोहब्बत कर नहीं सकता !!
हर कोई हर किसी का इंतज़ार कर नहीं सकता !!


intezaar shayari,
intezaar shayari in hindi,
intezar shayari in hindi,
intezaar shayari hindi,
shayari on intezaar,
intezar in hindi,
intezaar in hindi,
intezar par shayari,
waiting shayari in hindi,
intezar ki,
intezar shayari in hindi,
intzaar,
love ka hai intezaar,

तू भी कभी अपने होठों पर मेरा नाम रख के देख !!
तू भी तो कभी मेरा इंतज़ार करके देख !!

हर इंतज़ार में एक उम्मीद छुपी होती है !!
इसलिए जीवन में इंतज़ार करना भी ज़रूरी है !!

जीवन में इंतज़ार बहुत जरुरी है !!
मंज़िल हासिल करने के लिए !!

किसी के इंतज़ार में वक्त ज़ाया ना करें !!
या तो इश्क़ करें या तो अपने काम से इश्क़ करें !!

हमलोग तो बस इंतज़ार ही कर सकते !!
उनका दीदार करना तो हमारे नसीब में ही नहीं है !!

आप और आपकी हर बात मेरे लिए ख़ास है !!
शायद यही प्यार का पहला एहसास है मेरे जीवन की !!

जीवन में सबसे अच्छी चीजें !!
अक्सर हमारे आराम क्षेत्र के दरवाजे पर !!
हमारा इंतजार कर रही होती हैं !!

घुट घुट के मर रही है ये जिन्दगी !!
इंतज़ार तेरा, मुझे ना जीने दे और ना ही पूरी तरह मरने दे !!

तुम देखना यह इंतज़ार एक दिन रंग लायेगा ज़रूर !!
एक रोज़ आँगन में मौसम-ए-बहार आएगी ज़रूर !!

तेरे इंतज़ार मैं लफ्ज़ ख़त्म हो गए लिखने के लिए !!
मेरे इश्क़ पे खामोशी सी छायी है, तेरे इंतज़ार में !!

आँखों को इंतज़ार की भट्टी पे रख दिया मैंने !!
दिये को आँधी की मर्ज़ी पे रख दिया मैंने !!
अब तुम्हे लौट आने की आस में ज़िंदा हु मै !!

मुझे पता है की मैं प्यार के लायक हूं !!
और इसी विश्वास से मैं अपने प्यार का इंतजार कर रहा हूं !!

मैं कब से इस दिन के बारे में सोच रहा था !!
जब मैं इस दिन को तुम्हारा इंतज़ार करूँगा !!

Intajaar Shayari In Hindi

खबर नहीं मुझे यह जिन्दगी कहाँ ले जाए !!
कहीं ठहर के मेरा इंतज़ार मत करना !!

कभी किसी का जो होता था इंतज़ार हमे !!
बड़ा ही शाम-ओ-सहर का हिसाब रखते थे !!

किन लफ्जों में लिखूँ मैं अपने इंतज़ार को !!
तुम्हें बेजुबां है, इश्क़ मेरा ढूंढ़ता है खामोशी से तुझे !!

वो न आएगा हमें मालूम था इस शाम भी !!
इंतज़ार उसका मगर कुछ सोचकर करते रहे !!

मैंने उन्हें अपने जहन में उतारा होगा !!
जिस-जिस ने तुम्हारा नाम मेरे नाम से पुकारा होगा !!

मानता हूं तुमसे मोहब्बत करना मेरी खता है !!
फिर मैं तो उन्हें भुला भी दूँ पर मेरी कमजोरी उन्हें पता है !!

तुम मेरे हो और मैं तुम्हारा हूं !!
फिर भी तुम्हारे बगैर ही दिन गुजारता हूं !!

तुम मेरी नजरों के बेहद पास होते हो !!
मेरे ख्वाबों में तुम हमेशा मेरे साथ होते हो !!

अपनी जिद छोड़ के मेरा हक़ मुझे दिला देना !!
मैं अगर भटक जाऊं मुझे मुझसे मिला देना !!

गैरों से ना कह के सब मुझसे कहती हो !!
मुझे अच्छा लगता है जब तुम मेरे साथ रहती हो !!

अगर कोई तुमसे पूछे मैं क्या करता हूं !!
तो कह देना उनसे मैं तुमसे प्यार करता हूं !!

तुम मेरे ख़यालों में आके मुझे परेशान करते हो !!
मैं तुम्हें याद करता हूं क्या तुम मुझे याद करते हो !!

प्यार के लिए मुझे इंतजार करना चाहिए था !!
वो विचार मुझे 10 साल बाद भी परेशान कर रहे हैं !!

शायद इंतजार करना सही बात है !!
या शायद नहीं है मुझे समझ नहीं आता !!

मैं अभी भी उस दिन की Intezaar कर रही हूं !!
जब आप मेरे लिए अपनी फीलिंग्स बताओगे !!

मैं आपका इंतजार करूंगा क्योंकि मैं आपसे प्यार करता हूं !!
और मुझे लगता है की आप भी मेरे से प्यार करते हैं !!

मुद्दत से बैठे हैं तेरे इंतज़ार में !!
कि आज आयेगा कोई पैगाम तेरा !!

यूं पलकें बिछाकर तुम्हारा इंतजार करते है !!
तेरे लौटने की दुआ रोज हम रब से करते है !!

बजाय सीने के आँखों में दिल धड़कता है !!
ये इंतज़ार के लम्हे अज़ीब होते हैं !!

सच कहु तो तेरे इंतज़ार में लफ्ज़ ख़त्म हो गए !!
मेरे इश्क़ पे खामोशी सी छायी है तेरे इंतज़ार का कहर !!

इसे भी पढ़े:- Gangster Shayari In Hindi | गैंगस्टर शायरी

Intajaar Shayari

आँखों ने जर्रे-जर्रे पर सजदे लुटाया हैं !!
क्या जाने कहा छुपा है मेरा पर्दानशीं !!

जब कभी फुर्सत मिले मेरे दिल का बोझ उतार दो !!
मैं बहुत दिनों से उदास हूँ मुझे कोई शाम उधार दो !!

यदि आप अपने प्रेम जीवन में खुश रहना चाहते हैं !!
तो आपको इंतज़ार करना सीख लेना होगा !!

मैं अभी भी सिंगल हूं क्योंकि मैं !!
अपने MR. PERFECT का Intezaar कर रही हूँ !!

मैं सही समय के लिए इंतजार कर रही थी !!
इसलिए मेरा आने वाला जीवन सुखमय बीतेगा !!

हम जिसके रिप्लाइ आने का इंतज़ार कर रहे है !!
पता चला वह Busy है किसी और के साथ !!

बात करने के लिए तो बहुत से लोग है हमारे जीवन में !!
लेकिन मुझे हर पल तेरे ही मैसेज का इंतज़ार रहता है !!

यूँ पलके बिछाकर तेरा इंतज़ार करते है !!
यह वो गुनाह है जो हम बार बार करते है !!

उसकी मोहब्बत पे मेरा हक़ तो नहीं !!
लेकिन दिल करता है की उम्र भर उसका ही इंतज़ार करूँ !!

मरने के बाद भी मेरी आँखें खुली रहे !!
आदत जो पड़ गयी थी तेरे इंतजार की !!

तूफ़ान आया था कश्तियाँ डूब रही थी !!
मैने कहा घमंड छोड़ दे वरना तेरा भी यही हश्र होगा !!

तुम आस न छोड़ना मेरा !!
तेरे मेरे कुन्ड्ली में हमारा मिलन लिखा है !!
जिसे कोई चाहकर भी नहीं टाल सकता !!

जो चिराग सारे बुझा चुके उन्हें इंतजार कहाँ रहा !!
ये सुकून का दौर-ऐ शदीद है कोई बेक़रार कहाँ रहा !!

बहुत देखे रास्ते सब में इंतज़ार करना पड़ा !!
पर तेरे इंतज़ार का मजा ही कुछ और था।

इसे भी पढ़े:- Smart Borrowing – How to Get a Loan Without Regrets Full Process

इंतज़ार शायरी हिंदी

अब और कितना इंतज़ार कराओगी ऐ ज़िंदगी !!
मिलो और बातें चार कर कुछ मुद्दे ही सुलझा लो !!

तुझे ना हासिल करके भी ये सुकून तो रहा !!
कम से कम तेरे इंतज़ार में समय तो नहीं गवायाँ !!

तुम मिलो या ना मिलो !!
मैं इंतज़ार करता रहूँगा तुम्हारे आने की !!

अब ये दिन मुझे पहाड़ जैसे लगते है !!
उसके बिना अब ये कटते ही नहीं है !!

हम जानते हैं की वो आएंगे नहीं !!
लेकिन उनका इंतज़ार करना हमे मसरूफ रखता है !!

मुझे इंतज़ार था तेरे हर इकरार का !!
पर वो इंतज़ार इंतज़ार रह गया !!

उसने कहा सही घड़ी आने पे सब कुछ बयाँ कर दूंगा !!
उस सही घड़ी का इंतज़ार अब तक है !!

उसे कैसे बताएं कि !!
अभी भी इंतज़ार है उसका !!

उन्हें मुझसे नफ़रत थी और मुझे घमंड !!
अजीब हैं नफ़रत करने वाले भी !!
हर महफ़िल मे हमारी चर्चा करते हैं !!

उसे गुरूर था कि मैं उसके साथ हूँ !!
पर एक दिन उससे दूर क्या हो गए !!
उसका गुरूर हि टूट कर बिखड़ गया !!

उसके पास जितना कम दिमाग था !!
उतना ही ज्यादा घमंड !!
समझदार होती तो विनम्र होती !!

तुम्हे क्या पता कैसा है, हाल हमारा !!
एक तो ये टूटा हुआ दिल !!
ऊपर से तुम्हारे यादो का बवंडर !!

इसे भी पढ़े:- Shared vs. VPS vs. Dedicated Hosting: Which Is Right for You?

Intezaar shayari

उनके खत की आरज़ू है हमे !!
उनकी आमद का ख्याल किस कदर फैला है कारोबार -ऐ -इंतजार में !!

अब कौन मुंतज़िर है !!
हमारे लिए वहाँ शाम आ गई है !!
लौट के घर जाएँ हम तो क्या !!

अजब चिराग हूँ !!
दिन-रात जलता रहता हूँ !!
थक गया हूँ मैं हवा से कहो बुझाए मुझे !!

यदि आप अपना पूरा जीवन !!
तूफान के इंतजार में बिताते हैं !!
तो आप कभी भी धूप का आनंद नहीं लेंगे !!

आपको Hurt करने वाले बहुत मिलेंगे !!
मगर आपको उसका इंतज़ार करना चाहिये !!
जो आपके लायक हो और जो दिल से आपको अपना माने !!

मत करो किसी से इतना प्यार की !!
एक पल का इंतज़ार भी मुस्किल हो जाये !!
एक अजनबी पर ऐतबार करके अपनों से ऐतबार उठ जाये !!

अगर मैं आपसे सच्चा प्यार करता हूं !!
तो अब से 5 साल बाद भी आपसे प्यार करूंगा !!
ऐसा मेरा मानना है, बाकी आगे आपकी मर्ज़ी !!

अगर चीजें अलग अलग होतीं !!
अगर मैं आपके लिए Intezaar करता !!
तो क्या आप मुझसे प्यार करते !!

Intezaar shayari in hindi

उस दिन के इंतजार में कभी परेशान मत होइए !!
कि आपका प्यार आपको वापस मिलेगा !!
मैं आपको बता रहा हूं वह कभी नहीं हो सकता !!

अब अगर कोई व्यक्ति आपसे सच्चा प्यार करता है !!
तो वह आपके लिए Intezar करने को तैयार है !!
चाहे वह समय कितनी भी लंबी क्यों न हो !!

मैं आपसे प्यार करता हूं !!
और मैं आपको बताना और दिखाना चाहता हूं !!
लेकिन अभी ऐसा करने का सही समय नहीं है !!

हमें दो से एक होने से पहले !!
कुछ पल इंतजार करना होगा !!
बस यही तरीका है हमारे मिलन का !!

आप प्यार पाने के लिए बस इंतजार करते हैं !!
क्योंकि आप प्यार पर विश्वास करते हैं !!
आप मानते हैं कि यह सच हो सकता है !!
लेकिन यह कभी कभी ख्वाब बनकर ही रह जाता हैं !!

मैंने प्यार की प्रतीक्षा की !!
मैं सभी पीड़ाओं और कष्टों से गुज़रा हूँ !!
लेकिन मुझे अंत में प्यार नहीं मिला !!

बहुत हुआ इंतजार तेरा और ना रहा जाता है !!
अब जलदी से हो एक हसीन मुलाकात !!
मै करू आपसे मेरी सरी दिल की बात !!

कुछ रिश्ते ऐसे भी बनाये जाते है !!
एक दिन मिलने के लिए !!
महीनों इंतजार किया जाता है !!

किस्मत के भी रंग हज़ार है !!
जो मिल नहीं सकता है !!
बस उसीका इंतज़ार रहता है !!

इसे भी पढ़े:- एटीट्यूड शायरी स्टेटस | Best Attitude Shayari Status in Hindi

Intezar shayari in hindi

एक आजनबी से मुझे इतना प्यार क्यों है !!
उसे पाना शायद मेरे नसीब में नहीं !!
फिर भी हर मोड़ पर उसीका Intezaar क्यों है !!

यदि मुझसे जी भर गया है तो बता दो !!
हमें इनकार पसंद है, इंतजार नहीं !!

उसकी दर्द भरी आँखों ने जिस जगह कहा था अलविदा !!
आज भी वही खड़ा हूँ, और दिल उसके आने के इंतजार में है !!

सब कुछ खोके भी मैं तुम्हें पाना चाहता हूं !!
तुम भी ना जुदा कर सको !!
तुम्हारे इतना करीब आना चाहता हूं !!

ना चाहते हुए भी तुम्हारा इंतजार किया है !!
जबसे होश संभाला है !!
सिर्फ तुम्हीं से प्यार किया है !!

मैं अपनी गिनती उनमें से करना चाहता हूँ !!
जिनकी आप तालश मैं हैं !!
उसके लिए मुझे इंतजार करना होगा !!

जब आप अपने जीवन मैं सही समय !!
और सही व्यक्ति के लिए Intezaar करते हैं !!
तो आप अपने ख़ुशी का सहानभूति को पाते हैं !!

काश मैं पिछले समय में वापिस जा सकूँ !!
और दूसरों के प्यार को पाने के पागलपन !!
वाले समय को theek कर सकूँ !!

इंतजार अगर लंबा हो तो चलता है !!
पर इंतजार अगर एक तरफा हो तो !!
सिर्फ तकलीफ देता है !!

मोहब्बत हम तुझसे बेशुमार करते है !!
की एक पल भी ना गुजरे तेरे बिना !!
हर वक़्त मैं रहूं सिर्फ तेरे इंतज़ार में !!

तुम्हे बस Ignore करना आता है !!
कभी सोचा है तुम्हे सामने वाला !!
कितनी उम्मीद से Message करता है !!

ज़िंदगी में कभी इंतज़ार ख़त्म नहीं होता !!
किसी बेगाने की वजह से कोई बर्बाद नहीं होता !!
हम तो अपनों के सताए हुए है !!
दुनियां में अपनों से दूर जाने का कोई ज़रिया नहीं होता !!

सही व्यक्ति की प्रतीक्षा करें !!
भले ही आप सही समय का इंतजार न करना चाहें !!
आपको जरूर आपका प्यार मिलेगा !!

हर कोई पूछता है हमसे करते क्या हो !!
और हम कहते है, इंतज़ार सही वक्त का !!

Intezaar shayari hindi

उससे मैने पूछा की मेरे साथ चलोगे !!
उसने कहा हम अकेले रहना पसंद करते हैं !!
मैने भी कहा तो हम भी अब से !!
तुमसे दूर रहना पसंद करते हैं !!

दिल की तमन्ना है कि मैं भी !!
अपनी पलकों पे बैठाऊँ तुझको !!
बस तू अपना वजन कम करले !!
तो पलकों पर बिठा लूँ तुझको।

फासलों से इंतज़ार बढा करता है !!
इंतज़ार से प्यार बढ़ा करता है !!
सारी ज़िन्दगी ख़ुदा से सजदा करो !!
तब जाके तुम्हारे जैसा यार मिलता है.

भले ही राह चलते का दामन थाम ले !!
मगर मेरे प्यार को भी तू पहचान ले !!
कितना इंतज़ार किया है तेरे इश्क़ में !!
ज़रा यह दिल की बेताबी तू भी जान ले !!

हालात कह रहे हैं, मुलाकात नहीं मुमकिन !!
उम्मीद कह रही है, थोड़ा इंतज़ार कर !!

वो समझे या ना समझे मेरे जज्बात को !!
मुझे तो मानना पड़ेगा उनकी हर बातो को !!
हम तो चले जायेंगे दुनिया से एक दिन !!
मगर देख लेना वो सोंएगे अकेले हर रात को !!

किसी उदास मौसम में !!
मेरी आँखों पे वो हाथ रख दे अपना !!
और हस्ती हुई कह दे !!
पहचान लो तो हम तुम्हारे ना पहचानो तो तुम हुमारे !!

मैं आपके लिए अपने आपको सुधारना चाहता हूँ !!
जो सबसे बेस्ट हो !!
जो आपको सबसे अधिक प्यार करता है !!
जो हकीकत है वो अभी मैं अभी नहीं हूं !!

आपके दिए हुए फूल पर बहार वही है !!
दूर रहते है आपसे पर प्यार वही है !!
हम मिल ना सकते है आज कल !!
पर तेरे मोहब्बत का इंतजार वही है !!

तुम्हारी यादो के समंदर में डूबा हूँ !!
हमें उम्मीद हैं तुम भी मेरे इंतज़ार में कहि बैठी होगी !!
कभी फुरसत मिले तो हमे भी कॉल कर लिया करो !!

वो आयेगी नहीं पर मैं फिर भी उसका intezaar करता हूं !!
एक तरफा ही सही लेकिन सच्चा pyaar करता हूं !!

बहुत कर लिए इंतज़ार तेरा !!
अब तो सबर भी थक गए है !!
अब तेरी याद नहीं आएगी !!
यह तुझसे वादा है मेरा !!

Shayari on intezaar

उसकी दीदार के लिए !!
हम आज भी उसे याद करते है !!
उसे हमारी जरूरत नहीं !!
फिर भी हमे उसका Intezaar रहता हैं !!

जितनी मोहब्बत मुझे तुमसे है !!
उतनी तुमसे कोई और नहीं कर सकता !!
मैं तुमसे खफा हो सकता हूं !!
पर खुद को तुमसे दूर नहीं कर सकता !!

मोहब्बत का नाम आता है !!
तो अब तुम्हारा ही खयाल आता है !!
सबसे मैंने दूरियाँ बढ़ा रखी है !!
पर तुम्हारे लिए ये बदलना चाहता है !!

तुम्हारी यादें मेरे पास आके मेरे साथ मुस्कुराती हैं !!
जब तुम अकेले होते हो, क्या तुम्हें मेरी याद आती है !!

तुम्हारी मुस्कुराहटों से मेरे चहरे पे नूर आता है !!
तुम नजदीक होते हो तो हर गम मुझसे दूर हो जाता है !!

दिल चाहता है उसे बेशुमार प्यार करना !!
उसके साथ बैठकर कुछ प्यार की बाते करना !!
नसीब में लिखा है, सिर्फ उसी का इंतजार करना !!

हमने तुमको दिल दिया !!
यह तुम पे ऐतबार की हद थी !!
इश्क़ किया ये हमारे ऐतबार की हद थी !!
हम मर गए पर खुली रही आँखें !!
ये मेरे इंतज़ार की हद थी !!

मुझे प्यार का Intezar नहीं करना चाहिए था !!
इसने मुझे केवल दुखी किया !!
उस प्यार को पाने की लालसा जो मुझे कभी नहीं मिली !!

यह आप थे लेकिन तब !!
मुझे एहसास हुआ कि यह आप नहीं हैं !!
इसलिए मैंने सही आदमी की !!
प्रतीक्षा करने की कोशिश की !!
यह मेरा पागलपन था।

उसके इंतजार के मारे है, हम बस उसकी यादों के सहारे है !!
हमे दुनिया जीत कर क्या करना है !!
अब जिसे दुनिया से जीता था !!
आज उसी से हारे है हम !!

आपके आने से ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत है !!
दिल में बसी है जो वो आपकी ही सूरत है !!
दूर जाना नही हम से कभी भूलकर भी !!
हमे हर कदम पर सिर्फ आपकी ज़रूरत !!

कुछ सोचु तो तेरा ही ख्याल आता हैं !!
कुछ बोलू तो तेरा नाम आता हैं !!
कब तक मैं छुपाऊँ अपने दिल की बात !!
तेरी हर एक अदा पे हमे प्यार आता हैं !!

चेहरे पर तेरे सिर्फ मेरा ही नूर होगा !!
उसके बाद फिर तू न कभी मुझसे दूर होगा !!
जरा सोच के तो देख क्या ख़ुशी मिलेगी !!
जिस पल तेरी मांग में मेरे नाम का सिंदूर होगा !!

Itezar in hindi

आज तुझसे नही शायद खुद से ही मेरी रुसवाई है !!
तुझसे करके प्यार मैने जिंदगी में पाई सिर्फ तन्हाई है !!
दामन छुड़ा के प्यार का मेरे तूने अपनी दुनियां बसाई है !!
मैने समझा तुझे हमसफर अपना तू निकला हरजाई है !!

तू हमसफ़र तू हम डगर तू हमराज नजर आता है !!
मेरी अधूरी सी जिंदगी का ख्वाब नजर आता है !!
कैसी उदास है जिंदगी तेरे बिन हर लम्हा !!
मेरे हर लम्हे में तेरा अहसास नजर आता है !!

किसी राह में किसी मोड़ पर !!
चल न देना मुझको तू छोड़कर !!
मेरे हमसफर मेरे हमसफर !!
मेरे हमसफर मेरे हमसफर !!

उल्फत में अक्सर ऐसा होता है !!
आँखे हंसती हैं और दिल रोता है !!
मानते हो तुम जिसे मंजिल अपनी !!
हमसफर उनका कोई और होता है !!

शाम आई तो बिछुड़े हुए हमसफ़र !!
आंसुओं से इन आंखों में आने लगे !!
आंखें मंज़र हुई काम नग़्मा हुए !!
घर के अन्दाज़ ही घर से जाते रहे !!

रुस्वाई ज़िंदगी का मुकद्दर हो गयी !!
मेरे दिल भी पत्थर हो गया !!
जिसे रात दिन पाने के ख्वाब देखे !!
वो बेवफा किसी और की हमसफर हो गई !!

गगन से भी ऊंचा मेरा प्यार है !!
तुझी पर मिटूंगा ये इकरार है !!
तू इतना समझ ले मेरे हमसफ़र !!
तेरे प्यार से मेरा संसार है !!

शाम आयी तो बिछड़े हुए हमसफ़र !!
आंसुओं से इन आंखों में आके रहे !!
हर मुसाफिर है तन्हा-तन्हा क्यों !!
एक-एक हमसफ़र से पूछते हैं !!

जिंदगी देने वाले मरता छोड़ गये !!
अपनापन जताने वाले तन्हा छोड़ गये !!
जब पड़ी जरूरत हमें अपने हमसफर की !!
वो जो साथ चलने वाले रास्ता मोड़ गये !!

ज़िन्दगी से मेरी आदत नहीं मिलती !!
मुझे जीने की सूरत नहीं मिलती !!
कोई मेरा भी कभी हमसफ़र होता !!
मुझे ही क्यूँ मुहब्बत नहीं मिलती !!

दर्द की दास्ताँ अभी बाकी है !!
महोबत का इम्तेहान अभी बाकी है !!
दिल करे तो फिर से वफ़ा करने आ जाना !!
दिल ही तो टुटा है जान अभी बाकी है !!

ख्वाहिशों के समंदर के सब मोती तेरे नसीब हो !!
तेरे चाहने वाले हमसफ़र तेरे हरदम करीब हों !!
कुछ यूँ उतरे तेरे लिए रहमतों का मौसम !!
कि तेरी हर दुआ हर ख्वाहिश कबूल हो !!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top